काला जादू का तोड़

काला जादू का तोड़

काला जादू का तोड़, काले जादू से प्रभावित व्यक्ति की ज़िन्दगी एकदम नरक बन जाती है| न उसे दिन में शुकून मिलता और न ही रात को नींद नसीब होती| उसे डर, चिंता और घबराहट होती रहती है|

उसका किसी काम में मन नहीं लगता और मुंह से अपशब्द निकलने लगते हैं| उसकी हालत देखकर लोगों को लगता है कि वह पागल हो गया है| ये लक्षण काले जादू के होते हैं| अगर आपके घर परिवार की किसी सदस्य पर इस तरह का संकट आ गया है तो आप फ़ौरन काला जादू का तोड़ करें|

काला जादू का तोड़ करने के लिए आप ये उपाय कर सकते हैं| हर दिन शाम के समय आप थोड़ा सा गाय का दूध लें और इसमें 9 बूँद शहद की मिला दें| इस शहद मिले हुए दूध को घर के सभी दरवाजों पर थोड़ा थोड़ा गिराएँ| आखरी दरवाजे पर सारा दूध गिरा दें| इस प्रयोग को प्रतिदिन करने से आपके घर के किसी भी सदस्य पर हुए काले जादू का असर ख़तम हो जाता है|

काला जादू का तोड़
काला जादू का तोड़

काला जादू आपके ऊपर न हो इसके लिए आपको कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना चाहिए| यदि आप ऐसा करते हैं तो आप पर कोई काला जादू नहीं कर पायेगा| जब भी आप अपने बाल कटवाते हैं तो उन बालों को कही भी न फेंके| बालों से काला जादू किया जाता है|

महिलाएं अपने मंगल सूत्र को हिफाजत से रखें, मंगल सूत्र से बहुत घातक काला जादू किया जाता है| इसके अलावा महिलाओं को अपने मासिक धर्म के कपड़े को भी हिफाजत के साथ रखना या नष्ट करना चाहिए| काला जादू का तोड़ करने के बजाय इससे बचने के तरीके जान लेना ज्यादा फायदेमंद होता है|

बंगाल का काला जादू का तोड़

जब भी काले जादू की बात आती है बंगाल के काले जादू का ज़िक्र सबसे पहले होता है| बंगाल का काला जादू सबसे अधिक ख़तरनाक माना जाता है| इससे किसी भी इंसान को गुलाम बनाकर रखा जा सकता है, उससे मनचाहा काम कराया जा सकता है|

इसका पता चलते ही तुरंत बंगाल का काला जादू का तोड़ करना चाहिए| काले जादू से प्रभावित इंसान की चेतना को ख़त्म कर दिया जाता है और उसके अन्दर नकारात्मकता भर दी जाती है| जब भी उसे थोड़ा बहुत होश आता है तो उसे ऐसा लगता है कि शरीर तो उसका है लेकिन उस पर कोई और कब्ज़ा करके बैठा है|

बंगाल का काला जादू का तोड़ करने के लिए आप इस विधि का पालन करें:- इस प्रयोग को करने के लिए शनिवार का दिन सबसे उत्तम होता है| इस दिन दो पके हुए नींबू लेकर उन्हें बीच से काट लें| अब उनके बीच नमक और राई भर दें और बंद कर दें| अब उन्हें पीड़ित व्यक्ति के सिर से 7 बार वार लें और शाम के समय किसी चौराहे पर जाकर चारों दिशाओं में फेंक दें|

ये प्रयोग आप शनिवार से शुरू करके अगले शनिवार तक लगातार करें| इस उपाय को करने पर पहले दिन से ही आपको इसका प्रभाव देखने को मिल जायेगा| 8 दिन बाद रोगी पूरी तरह से जादू टोने, प्रेतात्मा आदि के प्रभाव से मुक्त हो जायेगा|

पुष्य अक्षत्र में धतूरे या चिड़चिड़े का पौधा उखाड़कर ले आयें| अब उसे उल्टा करके जमीन गाढ़ दें| आप इसका गंडा भी बनाकर गले में पहन सकते हैं, इससे भी प्रेत बाधा से मुक्ति मिलती है| शनिवार के दिन आप आठ काली मिर्च, सहदेवी की जड़ और आठ तुलसी के पत्तों के साथ धतूरे की जड़ के साथ गंडा बना लें और उसे गले में धारण करें|

काला जादू हटाने का मंत्र

काला जादू हटाने का मंत्र, इस दुनिया में दुश्मनों की पहचान करना बहुत ही मुश्किल है| ऐसे लोग जो सामने से कुछ बोल या कर नहीं पाते वे काले जादू का सहारा लेकर आपको परेशान करने का रास्ता अपनाते हैं| काले जादू को हटाने के लिए मंत्र बहुत प्रभावी होते हैं| काला जादू हटाने का मंत्र प्रयोग करने से भी किसी भी तरह की प्रेत बाधा, जादू टोने और किया कराये के प्रभाव को ख़तम किया जा सकता है| काला जादू हटाने का मंत्र इस प्रकार है –

ओम नमो आदेश गुरुका, एक ठो सरसों सोला राई, 

मोरो पठवल कोरो जाय,

जे करे ते करे, उलट विद्या ताही पे पड़े,

शब्द सांचा पिंड कांचा, फुरो मंत्र इश्वरी वाचा, दुहायी श्री की||

सबसे पहले और 7 नमक की डल्ली और 16 राई ने दाने लें| अब पूजा करने की दिशा में मुंह करके बैठ कर जाएँ| अब अपने सामने अग्नि प्रज्वलित कर लें| नमक की डल्ली और राई के दानों को हाथ में रखकर मुठ्ठी बंद कर लें और ऊपर दिए गये शाबर मंत्र का 7 बार पढ़ें| हर बार मंत्र पूरा होने के बाद बंद मुठ्ठी पर फूंक मारें| मंत्र का 7 बार जाप पूरा होने पर राई के दानों और नमक की डल्ली को आग में डाल दें|

ये काला जादू हटाने का मंत्र पढ़ने से आपके या आपके परिवार के किसी सदस्य पर किया गया जादू टोने का असर पूरी तरह से ख़त्म हो जायेगा| ये मंत्र इतना शक्तिशाली है कि उसे पढ़ने पर जादू टोना करने पर ही उसका उल्टा असर शुरू हो जायेगा| ये मंत्र नज़र उतारने के काम भी आता है|

काला जादू खत्म करने के उपाय

काला जादू खत्म करने के उपाय, काला जादू का पता चलने पर तुरंत आपको काला जादू खत्म करने के उपाय करना चाहिए| आजकल के लोग आधुनिक सोच के चलते लोगो भूत-प्रेत को अंधविश्वास मानते हैं लेकिन सच इसके विपरीत है| ये वही जान सकता है जिसके साथ गुजरी हो| काला जादू का असर पहचानना इतना कठिन नहीं होता है| कोई भी इंसान अगर अपने सामान्य व्यवहार से अगल व्यवहार करने लगे तो समझ जाना चाहिए कि उसके साथ कुछ हुआ है|

काला जादू खत्म करने के उपाय के अंतर्गत माँ काली की आराधना करना बहुत अच्छा माना जाता है| काली माँ के साधक को कभी काला जादू प्रभावित नहीं कर सकता है| आपके घर में सुख शांति और आध्यात्मिक शांति के लिए माँ काली की मूर्ति स्थापित करके पूजा पाठ करें| काले जादू के प्रभाव से बचने के लिए पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण करने की भी सलाह दी जाती है| इस धारण करने से आत्मविश्वास बना रहता है और भय से मुक्ति मिलती है|

काले जादू के प्रभाव मिटाने के लिए एक कटोरी चावल किसी भिखारी को दान कर दें| आप किसी अशोक के पेड़ के ताजे पत्ते तोड़कर उन्हें किसी मंदिर में रखकर आ जाएँ| जब ये पत्ते सूख जाएँ तो उन्हें उठाकर किसी पीपल के पेड़ के नीचे रख दें| ये उपाय नियमित करना चाहिए| इससे काले जादू के सारे असर ख़त्म किये जा सकते हैं| आप प्रेत बाधा या काले जादू से बचने के लिए गणेश भगवान को एक सुपारी चढ़ाएं|

काले जादू से किसी का भी भला नहीं होता फिर भी कई लोग दुश्मनी या ईर्ष्या के वश में होकर काला जादू करते हैं| ऐसे लोग मरने के बाद भी चैन नहीं पाते| आप किसी पर काला जादू करने का पाप अपने सिर न लें लेकिन किसी पीड़ित व्यक्ति की मदद ज़रूर करें| काला जादू खत्म करने के उपाय से आप अपने परिवार के सदस्य या दोस्तों की मदद कर सकते हैं|

काला जादू से बचने के उपाय