शराब छुड़ाने का काल जादू

शराब छुड़ाने का काल जादू
[Total: 1    Average: 5/5]

शराब छुड़ाने का काल जादू

शराब छुड़ाने का काल जादू,शराब की लत नशे की बुरी आदतों में से एक है। इसे छुड़ाना आसान नहीं होता है। दांपत्य जीवन में यह लत घर की बर्बादी का कारण बनता है। शराब छुड़ाने के डाक्टरी और सलाह के सभी उपाय एवं प्रयास धरे के धरे रह जाते हैं जब दोस्तों की महफिल जम जाती है। शराब की बोतलें खुलते ही इसकी तलब जागते देर नहीं लगती। ऐसे शराबी को इसकी आदतें छुडने के लिए तांत्रिक और वशीकरण का तरीका अपनाना चाहिए।

शराब छुड़ाने का काल जादू
शराब छुड़ाने का काल जादू

 

तंत्र-मंत्र की विद्या में कुछ टोटके, विधिवत वैदिक एवं शाबर मंत्र-जाप और काला जादू के उपाय भी बताए गए हैं, जिसका वार छिपे तौर पर होता है और कभी खाली नहीं जाता। शराबी को इसका पता भी नहीं चलता है कि कब और क्यों उसका शराब से मोहभंग हो गया। इस उपाय को स्त्रियां अपने पति के लिए कर सकती हैं।

भैरव मंत्रः रविवार के दिन किए जाने वाले इस उपाय से स्त्री अपने पति के शराब की आदत को शराब की बोतल से ही छुड़ा सकती है। स्त्री को चाहिए कि वह पति के पसंद की ब्रंाड का एक बोतल शराब खरीद लाए। उसे भैरव के किसी मंदिर में साधारण से पूजन के साथ अर्पित कर दे। उसके बाद मंदिर के पुजारी को दक्षिणा देकर बोतल को पुनः वापस घर ले आए।

पति के रात में सो जाने या शराब के नशे में चूर होने की स्थिति में उसके सिर पर से बोतल को घुमाते हुए ओम नमः भैरवाय का 21 बार जाप करें। बोतल को अगले रोज शाम के वक्त किसी पीपल के वृक्ष के नीचे छोड़ आएं। इसका असर कुछ दिन बाद दिखेगा।

किशमिश के साथ मंत्रजापः पत्नी या परिवार के सदस्यों के बार-बार मना करने पर भी शराब पीने की आदत नहीं छोड़ पा रहे हों तब आपको किशमिश के कुछ दानों के साथ स्वयं एक प्रयोग करना चाहिए। जब भी शराब पीने की तलब जागे तब आप किशमिश के कुछ दानें मुंह में ले लें और  छोटे से इस मंत्र का कम से कम 21 बार जाप अवश्य करें। इस प्रयोग में किशमिश के साथ मंत्र का मिलाजुला असर होता है। किशमिश से दिमाग को शक्ति मिलती है और मंत्र से मन की बेचैनी दूर हो जाती है। मंत्र हैः- ओम ह्रीं यं यश्वराये नमः!

तंात्रिक उपायः शराब छुड़ाने कि तांत्रक उपाय के लिए सबसे पहले बरसात का पानी एकत्रित करने जरूरत होती है। एक साधारण आकार की कटोरी मंे बरसात के पानी के साथ 21 बूंद गंगाजल, सात बूंद नारियल पानी और एक चुटकी लाल सिंदूर मिला दें। इस मिश्रण को उबाल लें और ठंडा करने के बाद अमावस्या की सुबह सवा तीन बजे इसकी कुछ बूंदें शराब की बोतल में मिला दें। इस दौरान निम्नलिखित मंत्र का 11 बार जाप करें। मंत्र इस प्रकार हैः-

ओम वैदेही सुष्टिस्थितिविनाशानां शकितभूते सनातनि! गुणाश्रये गुणमये नारायणि फट स्वाः!!

इस तरह से अभिमंत्रित शराब को जो कोई पीएगा उसे शराब से घृणा हो जाएगी और फिर वह जीवनपर्यंत शराब से दूर हो जाएगा।

कुछ टोटके

बिछुआः पत्नी अपने पैरों के बिछुओं के सरल प्रयोग से पति के शराब की आदत को छुड़ा सकती है। बिछुए को शनिवार और मंगलवार के दिन पानी में धोकर शराब की बोतल में से एक कटोरी में थोड़ी शराब निकाल लें। उसमें बिछुए को डूबो दें। उसके बाद त्रयोदशी या पूर्णमासी के दिन बिछुए को निकाल लें और शराब को पुनः बोतल में डाल दें। उस बोतल की शराब को भैरव मंदिर के बाहर पीपल वृक्ष की जड़ में बहा दें। ऐसा पांच बार करने से शराब की लत छूट जाती है।

बताशेः शराब के मद में हमेशा चूर रहने वाले को सात बताशे के साथ टोटका अपनाने से इसकी लत छूट जाती है। एक छोटी कटोरी सरसों के तेल में इन बताशों को हाथ से मसलकर डाल दें। उसमें अपनी छाया देखें और मन में सात बार शराबी का नाम उच्चारित करते हुए नशा छूटने की कामना करें। उस तेल को कहीं दूर जाकर मिट्टी पर फेंक दें। ऐसा लोगों की नजर बचाकर 11 दिनों तक करने से शराब की बुरी से बुरी आदत भी छूट जाती है।

सरसों तेलः शनिवार के दिन आजमाया जाने वाला यह टोटका सरसों के तेल के साथ किया जाता है। इसके लिए शराब की आधी बोतल में बाकी भाग सरसों के तेल से भर दें। इस बोतल को टाइट बंदकर शराब पीने वाले व्यक्ति के सिर के ऊपर से 21 बार तब घुमाएं जब वह रात के समय गहरी निद्रा में सोया हुआ हो। अगले रोज प्रातः स्नान आदि कर बोतल को किसी नदी, तालाब या नहर के किनारे उल्टा कर जमीन में गाड़ दें। यह सब करते हुए चुप्पी साधे रहना जरूरी है। हनुमान मंदिर में प्रसाद चढ़ाएं। उपाय किए जाने वाले व्यक्ति को प्रसाद अवश्य खिलाएं।

कपड़े से टोटकाः शराब छुड़ने के लिए एक उपाय सवा मीटर काले और उतने ही नीले कपड़े से करें। दोनों कपड़े को एक-दूसरे पर तह लगाकर रख दें। उस पर 800-800 ग्राम की बराबर-बराबर मात्रा में काली साबुत उड़द की दाल, काला तिल, जौ और कच्चा कोयल रखें। उसपर 8 बड़ी कीलें और एक रुपये की  8 सिक्के भी रख दें। उसके बाद उसकी एक पोटली बना लंें। अब जिस व्यक्ति के शराब की लता छुड़ानी है उसकी लंबाई का आठ गुना लंबा काला धागा लें और एक नारियल पर लपेट दें। नारियल पर काजल का तिलक लगाते हुए उसकी पूजा करें और शराब छूटने की कामना करें।

इस तरह से इन सामग्रियों को किसी सुनसान स्थान पर जाकर रख आएं या फिर उन्हे नदी कें बहते पानी में बहा दें। कार्य पूरे होने के बाद पीपल के पेड़ के नीचे तील के तेल का दीपक भी जलाएं। इस उपाय को जितना गुप्त तरीके से किया जए उतना ही अच्छा है।

चरखा चलाएंः शराबी पति को इसकी आदत से छुटकारा दिलाने के लिए उसे बताए बगैर हर शनिवार और मंगलवार को चरखा चलाना चाहिए। ऐसा तीन सप्ताह तक करने के बाद इसका अंतरिक असर शराबी पति पर दिखना शुरू हो जात है और उसके नियमित शराब पीने की आदतों में कमी आ जाती है।

कौए के पंखः शराबी के शराब की लत कौए के पंख से की जा सकती है। इसके फर को शराब पीने के पानी में मिला दें। ऐसा सात दिनों तक करें। इसका असर तेजी से होता है और शराब पीने की आदत जल्द छूट जाती है। पंख अगर जंगली कौए का मिल जाए तब यह टोटका और भी असरकारी हो जाता है।

काला जादू वशीकरण